स्वामी श्री रामकिशोर जी महाराज की आरती

आरती सत चित्त राम तुम्हारी , राम-राम
जनम मरण से लेहु उबारी ।।
मैं  शरणागत  तुम्हरी आयो , 
आप कृपा से संत पद पायो ।।1।।
कृपा  करी  गुरु देव दयाला , 
दे उपदेश मो कियो निहाला ।।2।।
राम राम रसना से गायो , 
ताते भेद सकल ही पायो ।।3।।
यह आरती जोे निशदिन गावे , 
रामकिशोर परम पद पावे ।।4।।